October 2, 2022

अवधभूमि

हिंदी न्यूज़, हिंदी समाचार

15 साल से कम बच्चों को वैक्सीन देना खतरनाक हो सकता है: एम्स के डॉक्टर ने उठाए गंभीर सवाल

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री ने 3 जनवरी से 15 से 18 वर्ष के बच्चों के वैक्सीनेशन की घोषणा की है। अब इस को लेकर गंभीर सवाल खड़े होने लगे हैं।

AIIMS के एक्सपर्ट डॉ संजय के राय ने कहा कि हो सकता है कि शायद प्रधानमंत्री मोदी के एडवाइजर्स ने उन्हें सही जानकारी नहीं दी हो. उन्होंने कहा कि बच्चों में कोरोना की वजह से मौत की दर बेहद ही कम है. उन्होंने कहा, “जहां बच्चों में मौत का दर लाख में दो है वही वैक्सीन देने के बाद अगर लाख में पांच या उससे ज़्यादा बढ़ जाता है तो कौन जवाब देगा.”

डॉ संजय के राय न सिर्फ AIIMS के वरिष्ठ महामारी विशेषज्ञ (Epidemiologist) हैं बल्कि एम्स में बच्चों और व्यस्कों पर कोरोना वैक्सीन कोवैक्सीन ट्रायल के मुख्य अनुसंधानकर्ता हैं. ऐसे में उनके बयान का खासा महत्व है. डॉ संजय के राय ने अब अपने बयान पर सफाई दी है. उन्होंने कहा है कि ये पीएम मोदी का विरोध नहीं है, ये विज्ञान की बात है. उन्होंने किसी का विरोध नहीं किया है, बल्कि वे साइंस की बात करते हैं. 

बता दें कि डॉ संजय के राय ने कहा था, “मैं राष्ट्र के लिए उनकी निस्वार्थ सेवा और सही समय पर सही निर्णय लेने के लिए पीएम मोदी का बहुत बड़ा प्रशंसक हूं, लेकिन बच्चों के टीकाकरण पर उनके अवैज्ञानिक निर्णय से मैं पूरी तरह निराश हूं.”