October 3, 2022

अवधभूमि

हिंदी न्यूज़, हिंदी समाचार

भाजपा ने नहीं मनाई अटल बिहारी बाजपेई की पुण्यतिथि: फूटफूटकर रोयी उनकी भतीजी करुणा शुक्ला

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी पंडित जवाहरलाल नेहरू को जहां देश की विरासत से मिटाने की कोशिश कर रही है वही अपने संस्थापक अटल बिहारी बाजपेई को भी बुलाने हैं कोई कोर कसर नहीं रख रही है।

कल यानी 16 अगस्त को पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न अटल बिहारी बाजपेई की पुण्यतिथि थी लेकिन भाजपा भाजपा का सोशल मीडिया पेज जो सरदार पटेल और लाल बहादुर शास्त्री तक को उनकी पुण्यतिथि पर याद करता है और श्रद्धांजलि देता है उसी पेज पर अपनी पुण्यतिथि पर अटल बिहारी बाजपेई भुला दिए गए। यह दर्द दिल्ली से लेकर ग्वालियर तक छलक पड़ा। लोग हैरान थे कि जिन अटल बिहारी बाजपेई के निधन के बाद उनकी अस्थियां और अवशेष हजारों कलश में भरकर पूरे देश में घुमाया गया उन्हीं उनकी पांचवीं पुण्यतिथि पर ही भुला दिया गया।

किसी भी बड़े भाजपा नेता ने नहीं दी श्रद्धांजलि

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेई की पांचवीं पुण्यतिथि पर भारतीय जनता पार्टी के किसी भी बड़े नेता ने उन्हें श्रद्धांजलि नहीं दी। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गृह मंत्री अमित शाह और भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा की ओर से भी पूर्व प्रधानमंत्री की पुण्यतिथि पर उन्हें याद नहीं किया गया इस बात का मलाल पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ साथ अटल बिहारी वाजपेई की भतीजी करुणा शुक्ला को भी है। मीडिया से बात करते हुए वह फूट फूट कर रोई। उन्होंने कहा कि ग्वालियर में बाजपेई जी को श्रद्धांजलि देने के लिए मुख्यमंत्री और प्रदेश अध्यक्ष को छोड़िए कोई पार्षद तक उन्हें श्रद्धांजलि देने नहीं आया।

अटल बिहारी बाजपेई की पुण्यतिथि पर भाजपा के पूर्व से कोई कार्यक्रम ना किया जाना फिलहाल चर्चा का विषय बना हुआ है। इस मामले पर भाजपा के शीर्ष नेतृत्व से लेकर नीचे स्तर पर कोई भी बोलने को तैयार नहीं है।