October 5, 2022

अवधभूमि

हिंदी न्यूज़, हिंदी समाचार

पाकिस्तान में सुरक्षित महसूस कर सकते हैं लेकिन पंजाब में नहीं: यह कैसा राष्ट्रवाद है

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कल पंजाब के फिरोजपुर में होने वाली रैली क्या रद्द हो गई अब सियासी तूफान खड़ा हो गया है। बठिंडा एयरपोर्ट से लौटते हुए प्रधानमंत्री ने मुख्यमंत्री को संदेशा भेजा क्यों उनसे कहना कि मैं जिंदा लौट आया

पंजाब सरकार पर उनकी तल्ख टिप्पणी के बाद सियासी वार और पलटवार का दौर जारी है

पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने कहा कि उनकी सुरक्षा को कोई खतरा नहीं था उनको सुनने कोई भीड़ नहीं आई जिसकी वजह से उन्होंने रैली निरस्त कर दी। इसमें हम क्या कर सकते हैं। केंद्रीय मंत्री स्मृति इरानी ने कहा कि कांग्रेस की खूनी साजिश नाकाम हो गई जबकि गृह मंत्री अमित शाह ने इस मामले में पंजाब सरकार से रिपोर्ट तलब कर ली है और जवाबदेही तय करने की बात कही है।

आतंकी देश पाकिस्तान में मोदी जी को सुरक्षा की कोई चिंता नहीं हुई

नवाज शरीफ के लिए फोन कॉल पर ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी काबुल से लाहौर उनके घर पहुंच गए तब उन्होंने यह भी नहीं सोचा कि यदि उनकी सुरक्षा को कुछ हो गया तो देश पर क्या बीतेगी।

प्रधानमंत्री वहां से लौटने के बाद पाकिस्तान के प्रधानमंत्री को यह क्यों नहीं बोले कि मैं जिंदा लौट आया धन्यवाद। अब सवाल उठता है कि पाकिस्तान की सुरक्षा व्यवस्था पर प्रधानमंत्री को भरोसा है लेकिन अपनी एसपीजी आईबी और मिलिट्री इंटेलिजेंस तथा अपने ही राज्य में उन्हें अपनी जान का खतरा महसूस होता है आखिर यह कैसा राष्ट्रवाद है। बिना किसी जांच के राज्य सरकार की साजिश बता देना। एयरपोर्ट से 110 किलोमीटर का रोड शो करना यह सुरक्षा से खिलवाड़ नहीं तो और क्या है।

फिलहाल जिस की भी लापरवाही है उसे दंडित किया जाना चाहिए लेकिन प्रधानमंत्री को भी प्रतिक्रिया देते हुए संयम बरतना चाहिए।