September 30, 2022

अवधभूमि

हिंदी न्यूज़, हिंदी समाचार

योगी सरकार में मोदी के चहेते मंत्री पर मुख्यमंत्री योगी ने बढ़ाया दबाव : कहा हर – हाल में रोस्टर के हिसाब से हो विद्युत आपूर्ति

लखनऊ। पूरे उत्तर प्रदेश में अंधाधुंध बिजली कटौती से त्राहि-त्राहि मची हुई है और इस विभाग की जिम्मेदारी संभाल रहे प्रधानमंत्री के करीबी अरविंद कुमार शर्मा के समझ में नहीं आ रहा है कि करें तो क्या करें।

इस बीच मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की नजरें ऊर्जा विभाग पर टेढ़ी हो गई है। उन्होंने ऊर्जा मंत्री अरविंद शर्मा से साफ कहा है कि हर हाल में विद्युत आपूर्ति में सुधार होना चाहिए और रोस्टर के हिसाब से विद्युत आपूर्ति होना चाहिए। काला की बिजली मंत्री ने मंत्री को आश्वासन दिया कि सब ठीक हो रहा है और जल्दी स्थिति काबू में आ जाएगी लेकिन ऐसा होता दूर-दूर तक दिखाई नहीं दे रहा।

मंत्री का साथ नहीं दे रहे ऊर्जा विभाग के वरिष्ठ अधिकारी

अंदर खाने यह भी पता चला है कि अरविंद शर्मा का ऊर्जा विभाग के ही वरिष्ठ अधिकारी साथ नहीं दे रहे हैं। उनके निर्देशों और आदेशों का शत-प्रतिशत पालन नहीं किया जा रहा है। ग्रिड के अधिकारी भी उनका कहना नहीं मान रहे।

पत्र सूचना शाखा
(मुख्यमंत्री सूचना परिसर)
सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग, उ0प्र0

मुख्यमंत्री ने प्रदेश के समस्त 75 जनपदों में रोस्टर के अनुरूप निर्बाध बिजली आपूर्ति सुनिश्चित कराने के निर्देश दिये

केन्द्र सरकार की ओर से प्रदेश को हर सम्भव मदद मिल रही

खदानों से पावर प्लाण्ट तक कोयले की ढुलाई के लिए रेल के साथ-साथ सड़क मार्ग का भी प्रयोग किया जाए

प्रदेश मंे भविष्य की ऊर्जा जरूरतों के दृष्टिगत कार्ययोजना तैयार की जाए

बिलिंग और कलेक्शन एफिशिएंसी बढ़ाने के लिए ऊर्जा विभाग द्वारा ठोस कार्ययोजना बनाई जाए

बिजली बिल बकाये के भुगतान के लिए एकमुश्त समाधान योजना लायी जाए

लखनऊ: 02 मई, 2022उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने प्रदेश के समस्त 75 जनपदों में रोस्टर के अनुरूप निर्बाध बिजली आपूर्ति सुनिश्चित कराने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार की ओर से प्रदेश को हर सम्भव मदद मिल रही है। खदानों से पावर प्लाण्ट तक कोयले की ढुलाई के लिए रेल के साथ-साथ सड़क मार्ग का भी प्रयोग किया जाए। मुख्यमंत्री जी आज यहां लोक भवन में आहूत एक उच्चस्तरीय बैठक में प्रदेश में ऊर्जा क्षेत्र की स्थिति की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि राज्य में ऊर्जा क्षेत्र में सुधार की व्यापक आवश्यकता है। प्रदेश मंे भविष्य की ऊर्जा जरूरतों के दृष्टिगत कार्ययोजना तैयार की जाए। विभागीय मंत्री द्वारा विभागीय कार्य प्रणाली की गहन समीक्षा करते हुए प्रत्येक स्तर पर व्यापक बदलाव किए जाएं। मुख्यमंत्री जी ने कहा कि बिजली बिल के समयबद्ध भुगतान के लिए उपभोक्ताओं को प्रोत्साहित किया जाए। इसके लिए जरूरी है कि सभी को समय से बिल और सही बिल दिया जाना सुनिश्चित किया जाए। ओवर बिलिंग, फाल्स बिलिंग अथवा विलम्ब से बिल दिये जाने से उपभोक्ता को परेशानी होती है। इस व्यवस्था में सुधार के लिए बिलिंग और कलेक्शन एफिशिएंसी बढ़ाने के लिए ऊर्जा विभाग द्वारा ठोस कार्ययोजना बनाई जाए। इस हेतु ग्रामीण क्षेत्रों में विशेष प्रयास किए जाएं।

मुख्यमंत्री जी ने कहा कि बिजली बिल बकाये के भुगतान के लिए एकमुश्त समाधान योजना (ओ0टी0एस0) लायी जाए। योजना ऐसी हो, जिसमें लोगों को बकाए पर ब्याज पर छूट मिलने के साथ ही, किश्त में भुगतान की भी सुविधा दी जाए। इस सम्बन्ध में यथाशीघ्र कार्यवाही की जाए।

You may have missed