08 Aug 2022, 10:03 AM (GMT)

Global Stats

589,764,929 Total Cases
6,437,614 Deaths
561,440,647 Recovered

August 9, 2022

अवधभूमि

हिंदी न्यूज़, हिंदी समाचार

रामपुर: शराब कारोबारी को फर्जी मामले में फंसाने पर प्रतापगढ़ के पूर्व पुलिस अधीक्षक शगुन गौतम पर गिरेगी गाज: डीआईजी सुलभ माथुर की जांच में पाए गए दोषी

रामपुर। जनपद में अपनी तैनाती के दौरान एक शराब कारोबारी को फर्जी मामले में फंसाने के आरोप में आईपीएस शगुन गौतम बुरी तरह फंस गए हैं। डीआईजी सुलभ माथुर ने इस मामले की जांच की तो आरोपों को सही पाया। उन्होंने अपनी जांच रिपोर्ट सबमिट कर दी है।

रामपुर के कप्तान रहे IPS 2010 बैच शगुन गौतम सहित 24 पुलिस कर्मियों पर कार्रवाई होने की संभावना है ।

पहले भी लग चुका है गंभीर आरोप

रामपुर जनपद में तैनाती के दौरान एक अस्पताल संचालक द्वारा महिला के साथ बलात्कार के मामले में शगुन गौतम पर लाखों रुपए लेकर राहत पहुंचाने का आरोप लगा था जिसकी शिकायत केंद्रीय सतर्कता आयोग में की गई थी और उसकी जांच में भी शगुन गौतम की भूमिका को संदिग्ध माना गया।

एक अस्पताल में गैंगरेप के मामले में संचालक से लाखों रुपयों की डील हुई, जिसके चलते पीड़िता की एफआईआर तक दर्ज नहीं की गई थी। बाद में सीएम के दौरे के दौरान जब महिला ने आत्मदाह की धमकी दी, तब एफआईआर दर्ज की गई थी। उन्होंने शिकायत में कहा है कि उनके द्वारा शासन में पांच लाख की घूस लेते हुए तत्कालीन सीओ सिटी विद्या किशोर का वीडियो भी दिया गया, जिस पर डीएसपी विद्या किशोर को निलंबित किया गया था। उन्होंने शिकायत के साथ में कुछ वीडियो लिंक और आडियो भी शेयर कीं। दानिश खां की शिकायत पर सेंट्रल विजिलेंस ने गोपनीय जांच करायी इस जांच में भी शगुन गौतम की संदिग्ध भूमिका की ओर इशारा किया गया है।

आजम खान पर कार्रवाई को लेकर आए चर्चा में

आजम खान और उनके संपर्क के लोगों के खिलाफ ताबड़तोड़ एक्शन लेने की वजह से शगुन गौतम शासन के प्रिय अधिकारियों में शामिल थे।