October 4, 2022

अवधभूमि

हिंदी न्यूज़, हिंदी समाचार

पीयूष जैन के यहां इनकम टैक्स का छापा: तुम किसी और को चाहोगे तो मुश्किल होगी

कानपुर। शिखर गुटखा के मालिक प्रदीप अग्रवाल और इत्र व्यवसाई पीयूष जैन के यहां इनकम टैक्स की बारात रुकी हुई है। मैसेज बिल्कुल साफ है कि अगर भारतीय जनता पार्टी के अलावा प्रदेश के व्यापारियों ने किसी और पार्टी या विचारधारा से जुड़ने की कोशिश की तो बेहद मुश्किल होगी।

तुम मुझे चाहो ना चाहो तो कोई बात नहीं, तुम किसी और को चाहोगे तो मुश्किल होगी

फिल्म का यह गीत फिलहाल देश और प्रदेश के व्यापारियों पर सटीक लागू हो रहा है। बहुत से व्यापारी जीएसटी से तबाह हुए हैं। नोटबंदी के बाद बहुत से कारोबारी दिवालिया होने के कगार पर है ऐसे में यदि वह सरकार का विरोध करने की सोच रहे हैं तो उनको इसका भारी खामियाजा भुगतना पड़ेगा।

भारतीय जनता पार्टी को व्यापारियों की पार्टी माना जाता है बावजूद इसके भाजपा सरकार में इनकम टैक्स ई डी और सेल टैक्स विभाग कारोबारी और व्यापारियों की जमकर खबर ले रहा है। बहुत से कारोबारी अपना व्यवसाय समेट कर कहीं और जा रहे हैं। अकेले कानपुर में 50,000 से ज्यादा छोटे-बड़े उद्योग बंद हो गए

तो क्या भाजपा को वोट देने की कीमत चुका रहे व्यापारी

नोटबंदी जीएसटी और कोरोना के दौरान आर्थिक तबाही का सामना करने वाले व्यापारियों पर सरकार दबाव बना रही है। लोगों का दबी जुबान कहना है कि यह सब कुछ केवल इसलिए हो रहा है ताकि भाजपा को फंड की कमी ना महसूस हो।