October 3, 2022

अवधभूमि

हिंदी न्यूज़, हिंदी समाचार

केशव प्रसाद मौर्य दे सकते हैं इस्तीफा: असीम अरुण या बेबी रानी मौर्य हो सकते हैं नए उपमुख्यमंत्री अटकलों का बाजार गर्म

लखनऊ। प्रदेश की राजधानी लखनऊ में से एक बड़ी खबर आ रही है। कल संगठन को सत्ता से बड़ा बता कर सनसनी फैलाने वाले उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य मंत्रिपरिषद और उपमुख्यमंत्री पद छोड़ने की तैयारी कर रहे हैं। इन कयासों को उस समय बल मिला जब उन्होंने अपने नजदीकी लोगों को संगठन हमें जाने के अपने इरादे के बारे में जाहिर करना शुरू किया।

योगी आदित्‍यनाथ सरकार (CM Yogi Adityanath) के डेप्‍युटी सीएम पिछले केशव प्रसाद मौर्य (Keshav Prasad Maurya) पिछले कुछ समय से लगातार चर्चा में हैं। कुछ दिन पहले स्‍वतंत्र देव सिंह के इस्‍तीफा देने के बाद से यूपी बीजेपी के नए अध्‍यक्ष की तलाश जोर-शोर से चल रही है। यूपी के राजनीतिक गलियारों में इस चर्चा ने जोर पकड़ लिया कि मौर्य को एक बार फिर कमान दी जा सकती है। पर हाल ही में उनको विधान परिषद में नेता सदन बना दिया गया जिससे ये अफवाहें ठंडी पड़ गईं। एक दिन पहले रविवार को केशव प्रसाद मौर्य ने ऐसा ट्वीट कर दिया जिससे चर्चाओं का बाजार फिर गर्म हो गया। मौर्य ने अपने ट्विटर अकाउंट पर लिखा-‘संगठन सरकार से बड़ा है।’ मौर्य सरकार में हैं और संगठन की तारीफ किए जाने की वजह से फिर उनके प्रदेश अध्‍यक्ष बनने की बात कही जा रही है। अब लोगों ने कयास लगाना शुरू कर दिया कि जब केशव प्रसाद प्रदेश अध्‍यक्ष बन जाएंगे तो नया डेप्‍युटी सीएम किसको बनाया जाएगा? सोशल मीडिया पर भी यूजर्स तमाम नामों को लेकर चर्चा कर रहे हैं। कहा जा रहा है कि मौर्य की जगह किसी दलित चेहरे को नया डेप्‍युटी सीएम बनाया जा सकता है।

केशव मौर्य रविवार को बीजेपी के पश्चिम और ब्रज क्षेत्र की बैठक में शामिल होने गाजियाबाद गए थे। बैठक से निकलने के बाद उन्होंने यह ट्वीट किया था। बैठक में पहली बार नए प्रदेश संगठन महामंत्री धर्मपाल आए थे। उनके साथ प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह और डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक भी थे। बैठक में भी केशव ने कहा कि भले कोई सांसद, विधायक या मंत्री बन जाए, संगठन के लोग इन सबसे ऊपर हैं। मौर्य लगातार संगठन की तारीफ कर रहे हैं। इससे पहले उन्होंने लखनऊ में 16 अगस्त को पूर्व प्रदेश संगठन महामंत्री सुनील बंसल के लिए कहा था कि यूपी में भाजपा को शून्य से शिखर तक पहुंचाने का श्रेय उन्हें ही जाता है।