29 Jun 2022, 9:50 AM (GMT)

Global Stats

551,332,813 Total Cases
6,354,844 Deaths
526,699,756 Recovered

June 30, 2022

अवधभूमि

हिंदी न्यूज़, हिंदी समाचार

तो क्या इनकम टेक्स अधिकारियों ने अपने आका के ही खजाने मे की सेंध मारी:

डेमेज कंट्रोल में जुटे वित्त विभाग के अधिकारी

कानपुर। जब कारोबारी पीयूष जैन की गिरफ्तारी हुई तो उसके चेहरे पर चिंता की कोई लकीर नहीं थी । उसे पूछताछ के लिए अहमदाबाद ले जाया गया। चर्चा है कि पूछताछ के दौरान इत्र कारोबारी पीयूष जैन ने घर में मिले के 200 करोड़ रुपए कैश और 77 किलो सोना मामले में कुछ ऐसी जानकारी दी जिसके बाद इनकम टेक्स अधिकारी सकते में आ गए । अहमदाबाद पहुंचने से पहले ही दिल्ली से एक बड़े नेता का फोन आया जिसके बाद ना केवल कारोबारी को राहत मिली बल्कि 200 करोड़ रुपया जिसे आयकर अधिकारी काला धन बता रहे थे उसे नियमित लेन-देन का कारोबारी पैसा बताने लगे।

जब भारतीय जनता पार्टी के बड़े नेताओं को जानकारी मिली कि कारोबारी के यहां मिली नगदी दरअसल पार्टी को ही मिलने वाला चुनावी फंड था तो तुरंत डैमेज कंट्रोल की शुरुआत हो गई।

चर्चा है कि दिल्ली से वित्त राज्यमंत्री अनुराग ठाकुर का फोन आने के बाद इनकम टेक्स अधिकारियों के स्वर बदल गए।

अधिकारियों को निर्देश सत्ता पक्ष से जुड़े लोगों से दूर रहे

पीयूष जैन के यहां छापेमारी से सत्ता पक्ष से जुड़े व्यापारी भारतीय जनता पार्टी से नाराज बताए जा रहे हैं। कुछ व्यापारियों ने भाजपा के बड़े नेताओं से अपनी नाराजगी खुलकर जाहिर की। व्यापारियों का कहना था कि वह भाजपा को चंदा भी देते हैं और उत्पीड़न भी झेलते हैं। व्यापारियों की शिकायत के बाद अधिकारियों को यह निर्देश दिया गया है।

तो क्या अनुराग ठाकुर की देखरेख में इनकम टेक्स अधिकारी डालेंगे रेड

सूत्रों का कहना है कि चुनावी राज्यों में खासतौर पर उत्तर प्रदेश में इनकम टैक्स अधिकारी अब वित्त राज्यमंत्री अनुराग ठाकुर को जानकारी देने के बाद ही कार्रवाई करेंगे।

सुब्रत पाठक के करीबी है पीयूष जैन

माना जा रहा है कि पीयूष जैन कन्नोज के सांसद सुब्रत पाठक का बेहद करीबी है और उन्हें चुनाव में फंडिंग भी करता है।