November 26, 2022

अवधभूमि

हिंदी न्यूज़, हिंदी समाचार

सत्संग से आध्यात्मिक चेतना होती है मजबूत, यह हमारी भारतीय संस्कृति की अटूट परंपरा – प्रमोद तिवारी

निश्छल मन से भगवान की आराधना ही हुआ करती है फलीभूत-आचार्य कृष्णकान्त
कथाश्रवण में पहुुंचे राज्यसभा सदस्
बस्ती। भगवान की कृपा कलिकाल में उसी प्राणी को फलीभूत हुआ करती है जो निश्छल मन से भगवान की निष्काम आराधना किया करता है। निर्दोष को सताने वाले को ईश्वरीय दण्ड भी इतना कठोर मिला करता है कि अन्यायी की दुर्गति सौ जोजन के दण्ड से भी कठोरतम हो जाया करती है। मनुष्य को भी प्रत्येक स्त्री के प्रति यथा उम्र सम्मान की भावना सदैव संजोये रखनी चाहिए। वहीं हर दशा में नारी को पातिव्रत धर्म का कठोरता से निर्वहन करना चाहिए। उक्त उदगार नव्य व्याकरणाचार्य एवं कथाव्यास आचार्य कृष्णकान्त श्रीमुख शाडिल्य जी महराज ने यहां बस्ती में सिविल लाइन मे हो रही श्रीमदभागवत कथा चार धाम यात्रा के मांगलिक आयोजन में कही। कथा श्रवण के लिए बस्ती के अलावा अयोध्या तथा फैजाबाद व प्रतापगढ़ से भी श्रद्धालुओं का जमघट दिखा। वहीं कथाश्रवण के लिए राज्यसभा सदस्य प्रमोद तिवारी भी मंगलवार की देर शाम कथास्थली पहंुचे। कांग्रेस के राज्यसभा सदस्य प्रमोद तिवारी ने वेद पूजन स्थली का नमन करते हुए कुलगुरू श्री बब्बनमणि त्रिपाठी से मंगलाशीष भी ग्रहण किया। कुलगुरू पं. बब्बनमणि त्रिपाठी ने सांसद प्रमोद तिवारी को लोक मंगल सारस्वत अलंकरण सम्मान भी सौंपा। राज्यसभा सदस्य प्रमोद तिवारी ने कहा कि भगवान की नगरी के समीप भगवान की कथा हमारी सांस्कृतिक तथा आध्यात्मिक चेतना की मजबूती का शाश्वत संदेश है। उन्होनें श्रद्धालुओं से कहा कि भगवान श्रीकृष्ण के द्वारा उस दिखलाये गये मार्ग का हमें सदैव अनुसरण करना चाहिये जिसमें सत्य के लिए अहंकार तथा अत्याचार से संघर्ष करते हुए नैतिक पथ पर मजबूती से अडिग रहने का पवित्र संदेश दिया गया है। कथा के संयोजक एवं पूर्व प्रधानाचार्य सांसद प्रतिनिधि पं. भगवती प्रसाद तिवारी ने यजमान लता तिवारी के साथ कथाव्यास आचार्य कृष्ण कान्त श्रीमुख शाडिल्य जी महराज तथा कुलगुरू पं. बब्बनमणि त्रिपाठी का श्रीअभिषेक एवं राज्यसभा सदस्य प्रमोद तिवारी का पीत अंगवस्त्रतम प्रदान कर सारस्वत सम्मान किया। व्यास पीठ द्वारा सांसद प्रमोद तिवारी के मीडिया प्रभारी ज्ञानप्रकाश शुक्ल व समाजसेवी पप्पू तिवारी तथा पं. श्रीकान्त मिश्र एवं मुरलीधर तिवारी को भी मंगलाशीष सौंपा गया। वयोवृद्ध समाजसेविका श्रीमती विमला देवी ने अभ्यागत श्रद्धालुओं को आयोजन के तहत मंगलाशीष सौंपा। आयोजन समिति के डा. विजय नाथ मिश्र, दुर्गा प्रसाद तिवारी, जय प्रकाश तिवारी, संजीव तिवारी, अनिल तिवारी, सुशील तिवारी, सुनील तिवारी ने श्रद्धालुओं के महाप्रसाद वितरण का संयोजन किया। इस मौके पर सौरभ तिवारी, विकास तिवारी, शरद तिवारी, आकाश तिवारी, आयुष तिवारी, शिवम मिश्र आदि रहे। इसके पूर्व बस्ती पहुंचने पर शहर की सीमा पर कांग्रेस के राज्यसभा सदस्य प्रमोद तिवारी का सुधीर तिवारी के संयोजन में भव्य स्वागत किया गया।