23 May 2022, 9:22 AM (GMT)

Global Stats

527,804,117 Total Cases
6,300,513 Deaths
498,049,166 Recovered

May 23, 2022

अवधभूमि

हिंदी न्यूज़, हिंदी समाचार

247 विश्वनाथगंज विधानसभा: वोटों का हिसाब किताब: अपना दल को 30000 वोटों का नुकसान कैसे होगी भरपाई

प्रतापगढ़। मतदान के लिए कुछ ही घंटे शेष रह गए हैं ऐसे में सभी प्रमुख दलों के प्रत्याशी अपने मतों का हिसाब किताब करने में जुटे हुए हैं।

आइए इसी कड़ी में 247 विश्वनाथगंज विधानसभा के वोटिंग की गणित को समझ लेते हैं। जानने की कोशिश करते हैं कि 2017 के मुकाबले 2022 में किसे घाटा हो रहा है और किसे फायदा। जिस दल या गठबंधन को घाटा हो रहा है क्या वह इसकी भरपाई कर पाएगा या नहीं।

एक बार फिर 2017 की तरह ही 2022 में भी अपना दल भाजपा गठबंधन और निर्दलीय संजय पांडे के बीच मुकाबला होने जा रहा है। 2017 में अपना दल भाजपा गठबंधन को लगभग 78000 वोट मिले थे जबकि उस समय कांग्रेस के सिंबल पर संजय पांडे को 65 हजार के करीब वोट मिले थे। आइए अब देखते हैं कि 2022 में किसके वोट में बिखरा हुआ है और किसका वोट बैंक मजबूत हुआ है।

अपना दल भाजपा गठबंधन को होने वाले नुकसान का आकलन

10 से 15000 ब्राह्मण

25000 छत्रिय

8 से 10000 पुरानी पेंशन बीएड टीईटी अनुदेशक शिक्षा मित्र और संविदा कर्मी

कुल मिलाकर पिछली बार अपना दल भाजपा गठबंधन को मिले मतों में लगभग 35000 मत कम होने की संभावना है। अगर यह संभावना सही साबित हुई तो पिछली बार कुल 78000 मतों में से 35000 मत घटने की दशा में अपना दल भाजपा गठबंधन के पास कुल 33000 मत ही शेष रह जाएंगे।

मुख्य प्रतिद्वंदी निर्दलीय संजय पांडे के मतों का आकलन

ब्राह्मण 22 से 25 हजार

मुस्लिम लगभग 20,000

क्षत्रिय लगभग 15000

अन्य लगभग 18000

लगभग 85,000 वोट मिलने का अनुमान है

बसपा के मतों का अनुमान

पिछली बार बहुजन समाज पार्टी को लगभग 42000 मत मिले थे और इस बार भी यह मत 2000 ऊपर या नीचे हो सकता है।

सबसे बड़ा सवाल

सबसे बड़ा सवाल यही है कि अपना दल भाजपा गठबंधन से ओबीसी ब्राह्मण और क्षत्रिय मतों में जो लगभग 35000 से 40000 वोटों की सेंधमारी सपा और निर्दलीय संजय पांडे द्वारा की जा रही है उसकी भरपाई गठबंधन किस तरह करेगा।