27 May 2022, 1:43 AM (GMT)

Global Stats

530,474,180 Total Cases
6,308,158 Deaths
501,069,994 Recovered

May 27, 2022

अवधभूमि

हिंदी न्यूज़, हिंदी समाचार

शराब माफिया पोंटी चड्ढा की कंपनी से भूस रेड्डी ने मिलाया हाथ: 80% देसी विदेशी शराब फैक्ट्री, गोदाम और दुकानों पर वेब ग्रुप का कब्जा: तो क्या संजय भूस रेडी के माध्यम से भारत में विजय माल्या कर रहा है कारोबार

लखनऊ। शराब माफिया पोंटी चड्ढा की शराब कंपनी वेब का एकाधिकार तोड़ने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पारदर्शी टेंडर व्यवस्था, व ट्रैकिंग सिस्टम लागू करने के आदेश दिए थे और उसका असर भी देखने में आया था। पूर्व अपर मुख्य सचिव कल्पना अवस्थी ने शराब माफिया पॉन्टी चड्ढा की कमर तोड़ कर रख दी थी लेकिन इसी बीच आबकारी महकमा संजय भूसरेड्डी के हवाले कर दिया जाता है और यहीं से बाजी पलट जाती है। संजय भूसरेड्डी ने विभाग में पारदर्शिता के सारे रास्ते बंद कर दिए। विभाग के ईमानदार अधिकारियों को चुन चुन कर निशाना बनाने लगे।

कंप्यूटर लिपिक अमित अग्रवाल को जी आबकारी नीति बनाने की जिम्मेदारी

बापू भवन में आबकारी महकमे में किस तरह की अराजकता और भ्रष्टाचार है अगर इसकी बानगी देखनी हो तो यह इस बात से देखा जा सकता है कि एक कंप्यूटर लिपिक जिसका नाम अमित अग्रवाल है आजकल वही यह तय कर रहा है किस-किस शराब कंपनी या डिस्टलरी को कितना शीरा इंडेंट आवंटित होगा। विभाग में चर्चा है कि प्रमुख सचिव संजय भूस रेड्डी ने वेबग्रुप की डिस्टलरी को चीनी मिलों की असवनियो से अधिकांश इंडेंट दिलाने के लिये ही अमित अग्रवाल को खुली छूट दे रखी है। वैसे कागज पर अमित अग्रवाल को कोर्ट से जुड़े मामलों का पटल दिया गया है लेकिन वह इंडेंट आवंटन का पटल ही नियमित रूप से देखता रहा है।

वेब ग्रुप की कैसे मदद करता है अमित अग्रवाल

अपर मुख्य सचिव संजय भूसरेड्डी के इशारे पर अमित अग्रवाल वेब ग्रुप तथा संजय भूसरेड्डी के रिश्तेदार नागेश्वर राव की एक्सिम एक्सपोर्ट की प्रतिद्वंदी शराब कंपनियों के पत्रावली में ऐसी तमाम आपत्तियां लगा देता है जिन्हें वह दूर नहीं कर पाते और कभी भी आसानी से इंडेंट हासिल नहीं कर पाते।

भगोड़े विजय माल्या को आबकारी विभाग ने दी मदद

एक तरफ ईडी और सीबीआई हजारों करोड़ के बैंक डिफाल्टर विजय माल्या की संपत्तियों का पता लगाने के लिए एड़ी चोटी का जोर लगाए हुई थी लेकिन इसी बीच उत्तर प्रदेश में आबकारी महकमे के सर्वे सर्वा ने अपनी दरियादिली दिखाई और विजय माल्या की नीलाम होने वाली शराब फैक्ट्री और प्रॉपर्टी को उसके भाई को खरीदने में पूरी मदद की। विजय माल्या की उत्तर प्रदेश में हजारों करोड़ की प्रॉपर्टी जब नीलाम हो रही थी तो उसमें विजय माल्या के भाई को भाग लेने दिया गया और इस काम में आबकारी महकमे में पूरी मदद की।

विजय माल्या की हजारों करोड़ की प्रॉपर्टी नीलामी में उसके भाई ने खरीदी, सोती रही ईडी और सीबीआई

भगोड़े विजय माल्या की हजारों करोड़ की प्रॉपर्टी उसके अपने सगे भाई ने नीलामी में खरीद लिया और ईडी तथा सीबीआई को इसकी कानो कान खबर तक नहीं लगी। यह सारा का सारा मैनेजमेंट अपर चीफ सेक्रेटरी संजय भूसरेड्डी का ही था। हजारों करोड़ के बैंक घोटाले में फंसे और फरार चल रहे विजय माल्या से संजय भूसरेड्डी के करीबी संबंध हैं। आज भी उन्नाव में विजय माल्या की बियर कंपनी किंगफिशर का पूरा मैनेजमेंट अदृश्य रूप से संजय भूसरेड्डी और अमित अग्रवाल ही संभालते हैं। कहां जा रहा है कि लंदन में बैठे विजय माल्या संजय भूसरेड्डी के माध्यम से ही भारत में अपना शराब का कारोबार कर रहे हैं। इस काम में संजय भूसरेड्डी के करीबी रिश्तेदार नागेश्वर राव की एक्सिम एक्सपोर्ट महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही है

रेड लेबल और ब्लैक लेबल को दाम घटाकर यूपी में लाइसेंसी दुकानों पर बैठने की अनुमति किसने दी:

इंग्लैंड की प्रतिष्ठित ब्रांड जॉनी वाकर की रेड लेबल और ब्लैक लेबल को up में दाम घटाकर बेचने की अनुमति किसने दी। रेड लेबल जिसका दाम 2500 और ब्लैक लेबल जिसका मूल्य 3200 रुपए था नियमों को ताक पर रखकर रेड लेबल को 17 00 रुपए में और ब्लैक लेवल को ₹2500 में बेचने की अनुमति क्यों दी गई। up में भारत में बनने वाली मैकडावेल 8PM व्हिस्की और रम जैसे ब्रांड को भारी नुकसान हुआ जिससे भारत में निर्मित इंग्लिश लिकर scotch को भारी घाटा हुआ। कहां जा रहा है कि रेड लेबल और ब्लॉक लेवल के मूल घटाकर बेचने की छूट up में संजय भूस रेड्डी के लंदन कनेक्शन की वजह से संभव हो पाया। बताने की जरुरत नहीं है कि शराब कंपनी जानी वाकर से विजय माल्या के करीबी संबंध है और विजय माल्या से संजय भूस रेड्डी की जमती है। इस पूरे मामले की जांच अगर ईडी से कराई जाए तो बहुत बड़ा स्कैम सामने आ सकता है।

अवधभूमि न्यूज पर ऐसे खुलासे जारी रहेंगे। इस तरह की खबरों के पढ़ने और जानने के लिए अवधभूमि न्यूज को आज ही facebook पेज twitter और youtube पर लाइक और शेयर करें।

You may have missed