27 Jun 2022, 12:19 PM (GMT)

Global Stats

548,924,518 Total Cases
6,350,753 Deaths
523,819,475 Recovered

June 27, 2022

अवधभूमि

हिंदी न्यूज़, हिंदी समाचार

योगी और केशव दोनों लग सकते हैं किनारे: बेबी रानी मौर्य हो सकती है भाजपा का नया चेहरा

लखनऊ। योगी आदित्यनाथ और केशव प्रसाद मौर्य के झगड़े से भाजपा हाईकमान बहुत ही परेशान है। अब एक खबर आ रही है उत्तराखंड के पूर्व राज्यपाल बेबी रानी मौर्य को एक रणनीति के तहत उत्तर प्रदेश में वापसी कराई गई है। बेबी रानी मौर्य को एमएलसी बना दिया गया है। दिल्ली दरबार के सूत्रों का कहना है कि बेबी रानी मौर्य भी नई सरकार का चेहरा हो सकती है। भाजपा अपने इस कदम से एक साथ कई लक्ष्य पर काम करना चाहती है। हाल ही में प्रियंका ने महिलाओं के बीच पैठ बढ़ाई है जिससे भाजपा में चिंता है। भाजपा की असली ताकत महिला मतदाता है। भाजपा नहीं चाह रही है कि उसके इस वोट बैंक में कोई सेंधमारी हो। इसके अलावा अखिलेश यादव का पिछड़ों में बढ़ता वर्चस्व भी भाजपा के लिए चिंता का सबब है जिसका तोड़ निकालने की कोशिश की गई है।

जब बेबी रानी मौर्य का इस्तीफा हुआ और उन्हें एमएलसी बनाया गया तो लोगों को हैरानी हुई थी

उत्तराखंड के राज्यपाल पाद उसे जब बेबी रानी मौर्य ने जब इस्तीफा दिया तो लोगों को हैरानी हुई। बाद में उन्हें एमएलसी बनाया गया। बेबी रानी मौर्य के कुछ बयान भी चर्चित रहे लेकिन बाद में उन्होंने खामोशी अख्तियार कर ली। ऐसा उन्होंने पार्टी हाईकमान के सलाह पर किया।

केशव के नाम पर योगी विद्रोह कर सकते थे

सूत्रों का यह भी कहना है कि केशव प्रसाद मौर्य को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ किसी कीमत पर अपनी कुर्सी तक नहीं पहुंचने देना चाहते थे। और भाजपा हाईकमान योगी आदित्यनाथ का केशव प्रसाद के प्रति कड़वाहट देख चुका है। ऐसे में भारतीय जनता पार्टी ने बेबी रानी मौर्य को आगे बढ़ाने का लगभग निश्चय कर लिया है। इससे जहां योगी को भी बोलने का मौका नहीं मिलेगा वही केशव प्रसाद मौर्य भी बागी होने की हिम्मत नहीं जुटा पाएंगे। देखना है भाजपा की यह नई रणनीति उसे कितना फायदा दिला पाती है।

भाजपा हाईकमान नहीं चाहता कि लखनऊ पर कोई दबंग सत्ता कायम हो

अभी कुछ महीने पहले योगी आदित्यनाथ ने जिस तरह से दिल्ली को अपने तेवर दिखाए थे उसे पार्टी हाईकमान पचा नहीं पा रहा है। इधर केशव प्रसाद मौर्य भी पार्टी हाईकमान के निर्देश के बावजूद जिस तरह से चुनौतियां खड़ी करते रहे हैं उससे पार्टी हाईकमान उनके भी पर करने पर विचार कर रहा है।