21 Jan 2022, 2:24 AM (GMT)

Global Stats

343,734,863 Total Cases
5,595,500 Deaths
275,191,564 Recovered

January 21, 2022

अवधभूमि

हिंदी न्यूज़, हिंदी समाचार

राजनैतिक विरासत बचाने के लिए आगे आये गायत्री के बेटे अनिल प्रजापति


अमेठी। अमेठी मे घर घर दस्तक देने पहुंच रहे गायत्री प्रजापति के बडे बेटे अनिल प्रजापति को लोग हाथोंहाथ ले रहे हैं। अमेठी के घर घर में पूर्व मंत्री गायत्री प्रसाद प्रजापति द्वारा गरीबो जरूरतमंदो की मदद के किस्से हर जबान पर हैं। जबसे पूर्व मंत्री को अदालत ने सजा सुनाई है तभी से उनके बडे पुत्र अनिल प्रजापति ने उन्हें न्याय दिलाने के लिये जनता की देहरी पर दस्तक देने और न्याय की लडाई मे साथ और आशीष मांगने निकल पडे हैं। पूर्व मंत्री के छोटे पुत्र अनुराग प्रजापति भी लगातार गांव गांव पहुंचकर पूर्व मंत्री को न्याय दिलाने के लिये उनकी पत्नी महराजी देवी को विधानसभा भेजने की अपील कर रहे हैं। अमेठी विधानसभा सीट पर 2012 मे पहली बार समाजवादी पार्टी को गायत्री प्रसाद प्रजापति ने कामयाबी दिलाई थी, लेकिन 2017 के चुनाव मे बीजेपी की लहर, कांग्रेस के गठबंधन धर्म तोडने की वजह से अनपेक्षित रूप से पूर्व मंत्री प्रजापति को बीजेपी की रानी गरिमा सिंह से हार गये थे। इस बार एक बार फिर प्रजापति परिवार अपने राजनीतिक जमीन को एकजुट करने की कवायद मे जुट गये हैं। क्षेत्र मे इसका असर भी दिख रहा है। क्षेत्र मे प्रजापति परिवार द्वारा लगवाये गये बैनर भी लोगो मे सहानुभूति पैदा कर रहे हैं। जिला पंचायत सदस्य अरूण प्रजापति, पिछडा वर्ग प्रकोष्ठ जिलाध्यक्ष महावीर कश्यप, पूर्व मंत्री कार्यालय प्रभारी श्रीनाथ यादव, रमाशंकर यादव, बबलू यादव आदि ने क्षेत्र मे पूर्व मंत्री गायत्री प्रसाद प्रजापति को न्याय दिलाने की मुहिम को परवान चढाना भी शुरू कर दी है। पूरी चुनावी रणनीति पूर्व मंत्री के बडे पुत्र युवा सपा नेता अनिल प्रजापति की देखरेख मे चलाई जा रही है। अमेठी के सामान्य व्यक्ति से भी आप पूंछे तो उसका जवाब होगा सपा से गायत्री परिवार के अलावा कोई नही जीतेगा। इस प्रकार से समझा जा सकता है कि पूर्व मंत्री गायत्री प्रसाद प्रजापति का परिवार अमेठी की राजनीति मे अपनी वापसी को लेकर मैदान मे डट गया है।

You may have missed