October 3, 2022

अवधभूमि

हिंदी न्यूज़, हिंदी समाचार

प्रतापगढ़ : प्रभारी मंत्रियों के सामने मुख्य विकास अधिकारी , पीडी, डीडीओ और डीपीआरओ की शिकायत: कार्यकर्ताओं ने कहा यदि यह अधिकारी रह गए लोकसभा जीतना मुश्किल

प्रतापगढ़। प्रतापगढ़ जनपद के प्रभारी मंत्रियों पर्यटन मंत्री जयवीर सिंह मन्नू कोरी के सामने कार्यकर्ताओं ने अधिकारियों पर गंभीर आरोप लगाए। जिन अधिकारियों पर आरोप लगाए गए इनमें मुख्य विकास अधिकारी ईशा प्रिया परियोजना निदेशक आरसी शर्मा जिला विकास अधिकारी और जिला पंचायत राज अधिकारी के नाम प्रमुख है

प्रतापगढ़ के अगई बॉर्डर पर प्रभारी मंत्री का स्वागत करते डॉ राकेश सिंह

कार्यकर्ताओं ने अमृत सरोवर संबंधित पत्रावली को लेकर मुख्य विकास अधिकारी ईशा प्रिया पर लापरवाही का आरोप लगाया इसके अलावा कार्यकर्ताओं ने गो आश्रय केंद्रों की दुर्दशा के लिए भी उन्हें ही जिम्मेदार ठहराया कई कार्यकर्ताओं ने बताया कि मुख्य विकास अधिकारी को लिखित शिकायत देने के बावजूद कोई कार्यवाही नहीं की गई।

भाजपा के जिला कार्यालय में कार्यकर्ताओं के साथ संवाद करते हुए प्रभारी मंत्री गण

कार्यकर्ताओं ने परियोजना निदेशक आरसी शर्मा पर भी गंभीर आरोप लगाए। भाजपा के कई पदाधिकारियों ने आरोप लगाया कि इसी जनपद में 10 वर्ष से अधिक की सेवा पूर्ण करने के बावजूद ट्रांसफर नहीं किया गया और यह अखिलेश यादव के समय से अभी तक डटे हुए हैं। कार्यकर्ताओं ने कहा कि यहां रह कर प्रधानमंत्री आवास में करोड़ों रुपए का घपला किया लेकिन जांच में भी लापरवाही बरती गई और कोई दंड नहीं दिया गया। कार्यकर्ताओं ने प्रभारी मंत्री के सामने कहा कि जनपद में रानीगंज और पट्टी विधानसभा की हार के लिए परियोजना निदेशक आरसी शर्मा की प्रधानमंत्री आवास में लूट ही जिम्मेदार रही।

जिला विकास अधिकारी की भी जमकर शिकायत की गई बताया गया कि पट्टी का खंड विकास अधिकारी रहते हुए करोड़ों रुपए का फर्जी भुगतान किया और प्रधानों से उगाही की जिसका खामियाजा विधानसभा में भुगतना पड़ा।

तीसरे नंबर पर जिला पंचायत राज अधिकारी रवि शंकर द्विवेदी का नाम सामने आया। कार्यकर्ताओं ने आरोप लगाया कि पंचायत सहायकों का मानदेय समय से नहीं मिल पा रहा है जबकि सामुदायिक शौचालय का संचालन करने वाली दीदियों का भी मानदेय रुका हुआ है। इनकी कार्यप्रणाली भी संतोषजनक नहीं है।

लीलापुर और जेठवारा थाने की सबसे ज्यादा शिकायतें

पुलिस संबंधित शिकायतों में सबसे ज्यादा शिकायत जेठवारा और लीलापुर थाने की रही। कार्यकर्ताओं ने बताया कि भाजपा की सरकार होने के बावजूद पैसे लेकर उनके खिलाफ फर्जी मुकदमे दर्ज किए गए। कार्यकर्ताओं ने प्रभारी मंत्री के सामने बताया कि राजस्व संबंधी मामलों में भी थानाध्यक्ष और उनके लोग जमकर वसूली कर रहे हैं । बिना पैसे के प्राथमिकी नहीं दर्ज कर रहे हैं पैसे लेकर फर्जी प्राथमिकी दर्ज कर रहे हैं और भाजपा और उनसे जुड़े कार्यकर्ताओं का उत्पीड़न कर रहे हैं।

बैठक में कार्यकर्ताओं ने प्रभारी मंत्री को चेतावनी दी कि यदि यह अधिकारी नहीं हटाए गए तो लोकसभा चुनाव में पार्टी को कड़ी चुनौती और मुश्किल का सामना करना पड़ेगा।

प्रभारी मंत्री ने कार्यकर्ताओं को आश्वस्त करते हुए कहा कि सबकी शिकायत नोट की गई है और यह रिपोर्ट सीधे मुख्यमंत्री को सौंपी जाएगी।

इस मौके पर भाजपा के जिला अध्यक्ष हरिओम मिश्रा जिला मंत्री रामजी मिश्रा जिला मीडिया प्रभारी राघवेंद्र नाथ शुक्ला पूर्व विधायक धीरज ओझा शिक्षाविद समाजसेवी और भाजपा के वरिष्ठ नेता डॉ राकेश सिंह राजा अनिल प्रताप सिंह आदि बड़ी संख्या में पार्टी के पदाधिकारी और कार्यकर्ता मौजूद रहे।