21 Jan 2022, 2:08 AM (GMT)

Global Stats

343,734,663 Total Cases
5,595,496 Deaths
275,191,549 Recovered

January 21, 2022

अवधभूमि

हिंदी न्यूज़, हिंदी समाचार

प्रधानमंत्री की सुरक्षा चूक में एसपीजी आईबी और गृह मंत्रालय भी सवालों के घेरे में : फिरोजपुर से दिल्ली तक जुड़े साजिश के तार

नई दिल्ली। पंजाब के फिरोजपुर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के काफिले में हुई सुरक्षा चूक का मामला गर्माता ही जा रहा है। कई सवाल है जिसका जवाब राज्य और केंद्र सरकार को देना है।

सबसे बड़ा सवाल यह है कि यदि 2 दिन पूर्व ही प्रधानमंत्री कार्यालय को मौसम विभाग ने पंजाब में मौसम खराब रहने की चेतावनी दे दी थी तो फिर ऐसे में प्रधानमंत्री के कार्यक्रम को रद्द क्यों नहीं किया गया या फिर उन्हें वर्चुअल रैली की सलाह क्यों नहीं दी गई।

दूसरा सवाल यह पैदा होता है कि प्रधानमंत्री को सड़क मार्ग से पाकिस्तान के सरहदी इलाके तक जाने की अनुमति किसने दी। एसपीजी ने इतनी लंबी यात्रा सड़क मार्ग से करने से प्रधानमंत्री को रोका क्यों नहीं। सवाल यह भी है कि सड़क मार्ग से जाने का फैसला भटिंडा एयरपोर्ट पहुंचने पर लिया गया या बाद में। और गंभीर सवाल यह भी है कि जब सड़क मार्ग से जाने का फैसला लिया गया तो 110 किलोमीटर सड़क मार्ग को क्लीयरेंस करने के लिए कितना समय दिया गया।

प्रधानमंत्री के काफिले के नजदीक भाजपा से जुड़े लोगों को आने की अनुमति एसपीजी ने क्यों दी । प्रधानमंत्री के काफिले के आसपास फोटोग्राफी और वीडियोग्राफी भाजपा के कार्यकर्ता करते रहे उन्हें एसपीजी ने क्यों नहीं रोका।

जिस मार्ग से प्रधानमंत्री गुजर रहे थे उस पर किसानों ने जाम लगा रखा है इसकी जानकारी आईबी ने क्यों नहीं ली। प्रधानमंत्री की रैली को पाकिस्तानी सीमा के इतने करीब एसपीजी ने अनुमति क्यों दी। ऐसे तमाम सवाल है जिसका उत्तर मिलना बाकी है।

You may have missed