08 Aug 2022, 9:43 AM (GMT)

Global Stats

589,748,800 Total Cases
6,437,575 Deaths
561,427,082 Recovered

August 9, 2022

अवधभूमि

हिंदी न्यूज़, हिंदी समाचार

अपने ही प्रमुख अभियंता के सामने बौने साबित हुए जितिन प्रसाद: विभाग में ट्रांसफर की डेट 10 जुलाई तक बढ़ा दी मंत्री से पूछा तक नहीं

लखनऊ। उपमुख्यमंत्री बृजेश पाठक के विभाग में अपर मुख्य सचिव ने जो खेल किया अभी उसकी चर्चा चल ही रही थी कि इसी बीच लोक निर्माण विभाग के कैबिनेट मंत्री दिग्गज ब्राह्मण चेहरा जितिन प्रसाद की दुर्दशा की भी खबरें आने लगी है।

अवध भूमि न्यूज़ को लोक निर्माण विभाग के विशेष सचिव प्रभु नाथ का दिनांक 4/07/22 को प्रमुख अभियंता को संबोधित एक पत्र हाथ लगा है जिसमें विशेष सचिव प्रभुनाथ ने प्रमुख अभियंता मनोज गुप्ता को संबोधित करते हुए लिखा है कि आपने स्थानांतरण अवधि बढ़ाए जाने का जो अनुरोध किया था उस पर विचार किया गया है और स्थानांतरण अवधि 10 जुलाई तक बढ़ा दी गई है।

इस पत्र को पढ़ने के बाद ऐसा महसूस हो रहा है कि जैसे इस फैसले में विभाग के कैबिनेट मंत्री की पूरी उपेक्षा की गई है उनसे किसी प्रकार की कोई राय नहीं ली गई है। आदेश सर्कुलर कर उसकी कॉपी जरूर मंत्री के निजी सचिव को भेजी गई है।

इस पत्र को देखने से स्पष्ट हो रहा है कि विभाग का कैबिनेट मंत्री होने के बावजूद जितिन प्रसाद की अपने ही विभाग के प्रमुख अभियंता के सामने बौना होना पड़ रहा है। इस पत्र के बाद सवाल उठ रहा है कि आखिर जितिन प्रसाद की इतनी उपेक्षा क्यों हो रही है।

दिल्ली दरबार के दबाव में बने थे केबिनेट मंत्री

राजनीतिक गलियारों में कहा जा रहा है कि ऐसे सभी मंत्री जिन्हें दिल्ली दरबार के दबाव में ताजपोशी की गई है उनके विभाग का रिमोट अपर मुख्य सचिव के माध्यम से डायरेक्ट मुख्यमंत्री कार्यालय के पास है। फिलहाल जितिन प्रसाद बृजेश पाठक और अरविंद कुमार शर्मा की स्थिति एक जैसी है।