22 May 2022, 8:19 AM (GMT)

Global Stats

527,365,372 Total Cases
6,299,973 Deaths
497,313,225 Recovered

May 22, 2022

अवधभूमि

हिंदी न्यूज़, हिंदी समाचार

योगी चेहरा होगे तो मंच साझा नहीं करेंगे केशव : भाजपा की टेंशन बढ़ी

लखनऊ। जबसे अमित शाह ने लखनऊ में आयोजित एक कार्यक्रम में जिसमें उन्होंने कहा कि 2024 में मोदी जी को जिताना है तो यूपी में योगी को जिताना पड़ेगा। इस बयान के बाद केशव प्रसाद मौर्य पार्टी हाईकमान से भी नाराज हो गए हैं। उनकी नाराजगी प्रधानमंत्री की सुल्तानपुर रैली में भी नजर आई। यहां केशव प्रसाद मौर्य हेलीपैड से लेकर मंच तक नदारद रहे। प्रधानमंत्री की झांसी और महोबा रैली से भी केशव प्रसाद मौर्य दूर रहे।

सूत्रों के अनुसार केशव प्रसाद मौर्य ने पार्टी हाईकमान से खास तौर पर प्रधानमंत्री से मिलने का समय मांगा है। हालांकि उन्हें अभी समय नहीं मिला है लेकिन उनका संदेश प्रधानमंत्री तक पहुंच गया है। सूत्रों का यह भी कहना है कि अगर भारतीय जनता पार्टी योगी आदित्यनाथ को पार्टी का चेहरा बनाएगी तो केशव प्रसाद मौर्य किसी भी दशा में योगी आदित्यनाथ के साथ मंच साझा नहीं करेंगे।

योगी से नाराज ओबीसी विधायक और नेताओं ने बढ़ाया केशव प्रसाद मौर्य पर दबाव

इधर भाजपा खेमे से यह भी खबर सामने आ रही है कि पार्टी के ओबीसी विधायक किसी दशा में योगी के नेतृत्व में चुनाव में जाने को तैयार नहीं है। पार्टी विधायकों का मानना है कि समाजवादी पार्टी की ओर से अखिलेश यादव जैसा मजबूत ओबीसी चेहरा होने के बाद ओबीसी में योगी को स्वीकार करना मुश्किल है। इधर पिछले चुनाव में अन्य पिछड़ा वर्ग में भाजपा को बंपर समर्थन मिला था क्योंकि लोगों को लगा था की पार्टी जीतेगी तो केशव प्रसाद को मौका मिलेगा लेकिन ऐसा नहीं हुआ और सीधे दिल्ली दरबार के फरमान के बाद योगी ने सत्ता पर कब्जा कर लिया इसको लेकर अन्य पिछड़ा वर्ग मतदाताओं और नेताओं में भी खासी नाराजगी है।

अपने 100 समर्थकों को टिकट दिलाना चाहते हैं केशव

भारतीय जनता पार्टी की मुश्किलें यहीं नहीं थमने वाली है आने वाले समय में केशव प्रसाद मौर्य अपने 100 से अधिक समर्थकों को पार्टी का टिकट दिलाना चाहते हैं जबकि योगी आदित्यनाथ भी अपने अधिक से अधिक समर्थकों को पार्टी का टिकट दिलाने की रणनीति पर काम कर रहे हैं। केस और योगी के इस टकराव की रणनीति से भारतीय जनता पार्टी को बड़ी मुश्किलों से दो-चार होना पड़ेगा।

You may have missed