October 4, 2022

अवधभूमि

हिंदी न्यूज़, हिंदी समाचार

केशव की मुश्किलें बढ़ी: फर्जी डिग्री मामले में हाईकोर्ट में सुनवाई

प्रयागराज। डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य बड़ी मुश्किलों में फंसे नजर आ रहे हैं। उनके फर्जी डिग्री मामले में निचली अदालत से आरोप खारिज होने के बाद उच्च न्यायालय इस मामले की सुनवाई के लिए तैयार हो गया है।

केशव प्रसाद मौर्य की डिग्री का मामला पहुंचा HC पहुंच गया जहां निचली अदालत के आदेश को चुनौती दी गई है।

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए सियासी माहौल के बीच उत्तर प्रदेश के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य से जुड़ी एक बड़ी खबर सामने आई है. केशव प्रसाद मौर्य की डिग्री का मामला अब हाईकोर्ट तक जा पहुंचा है. डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य की डिग्री को लेकर मजिस्ट्रेट के आदेश के खिलाफ हाईकोर्ट में अर्जी दाखिल की गई है, जिस पर 3 फरवरी को सुनवाई है. मजिस्ट्रेट के समक्ष फर्जी डिग्री की शिकायत करते हुए एफआईआर दर्ज कराने का आदेश जारी करने की मांग की गई थी.

दरअसल, हाईकोर्ट में दायर अर्जी में एसीजेएम प्रयागराज के 4 सितंबर 21 के आदेश को चुनौती दी गई है. उस आदेश में मजिस्ट्रेट ने एफआईआर दर्ज करने का आदेश जारी करने से इनकार कर दिया था और कोर्ट ने धारा 156 (3) दंड प्रक्रिया संहिता के तहत दाखिल अर्जी खारिज कर दी थी.

यह अर्जी भाजपा से निष्कासित दिवाकर नाथ त्रिपाठी की ओर से दाखिल की गई है. याचिकाकर्त का आरोप है कि यूपी बोर्ड के सचिव ने बताया है कि हिंदी साहित्य सम्मेलन प्रयागराज की प्रथमा, मध्यमा, विशारद डिग्री हाई स्कूल के समकक्ष मान्य नहीं है. केशव मौर्य ने इस डिग्री के आधार पर आगे की शिक्षा ग्रहण की है. जो गैर कानूनी है और अपराध की श्रेणी में आती है. जस्टिस राजीव गुप्ता की एकल पीठ में सुनवाई हुई.