September 30, 2022

अवधभूमि

हिंदी न्यूज़, हिंदी समाचार

योगी को दबाव में लाने के लिए कराई जा रही है ओमप्रकाश राजभर की भाजपा गठबंधन में वापसी

लखनऊ। केशव मौर्य को डिप्टी सीएम बनाने पीडब्ल्यूडी जैसा विभाग देने के सख्त खिलाफ योगी के लिए एक और सर दर्द पैदा किया जा रहा है। विधानसभा चुनाव में उन पर व्यक्तिगत निशाना लगाने वाले और अपशब्दों का प्रयोग करने वाले ओमप्रकाश राजभर को एक बार फिर भाजपा गठबंधन में लाने की तैयारी चल रही है। इस मामले में योगी आदित्यनाथ की राय लेना भी जरूरी नहीं समझा गया है। बताया जा रहा है कि भाजपा हाईकमान के इस फैसले से योगी आदित्यनाथ खुश नहीं है। भारतीय सुहेल देव समाज पार्टी के अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर ने चुनाव प्रचार के दौरान योगी आदित्यनाथ को निशाने पर रखा था और आखिर में उन्होंने यहां तक कह दिया था कि 10 मार्च को 10:00 बजे गाना बजेगा चल सन्यासी मंदिर में।

योगी आदित्यनाथ को दबाव में रखने के लिए हो रही है ओमप्रकाश राजभर की एनडीए में वापसी

ओमप्रकाश राजभर की वापसी दिल्ली दरबार के इशारे पर हो रही है। कहां तो जा रहा है कि मिशन 2024 में राजभर की ताकत देखते हुए ऐसा कदम उठाया जा रहा है लेकिन वास्तविकता यह भी है कि इस बार योगी आदित्यनाथ को फ्री हैंड नहीं किया जाएगा। उन्हें सरकार चलाने के लिए अपनी ही पार्टी में तमाम नेताओं के साथ एडजस्ट करके चलना पड़ेगा।

देशों और ओम प्रकाश को तुरुप का पत्ता मानती है /

योगी आदित्यनाथ के विरोध को दरकिनार करते हुए भाजपा हाईकमान ओमप्रकाश राजभर और केशव प्रसाद मौर्य को 2024 लोकसभा चुनाव के लिए तुरुप का पत्ता समझती है। और इन्हें किसी भी तरह से गठबंधन का हिस्सा बनाए रखना चाहती है।

You may have missed