23 Jan 2022, 9:44 AM (GMT)

Global Stats

351,402,503 Total Cases
5,613,039 Deaths
279,249,591 Recovered

January 24, 2022

अवधभूमि

हिंदी न्यूज़, हिंदी समाचार

बुंदेलखंड में प्रियंका को सुनने को उमड़ा जनसैलाब: प्रियंका का वादा सरकार बनी तो बुंदेलखंड का बजट अलग से प्रस्तुत करेंगे: किसानों का कर्ज माफ होगा और बिजली का बिल हाफ होगा : b.a. पास छात्राओं को इलेक्ट्रिक स्कूटी मिलेगी जबकि इंटर पास छात्राओं को स्मार्टफोन दिया जाएगा

रैली को संबोधित करते हुए प्रियंका गांधी

प्रियंका को सुनने के लिए महोबा में उमड़ा जनसैलाब

कांग्रेस की सरकार बनी बुंदेलखंड में आल्हा उदल का भव्य स्मारक बनाएंगे:

बुंदेलखंड की गरीबी दूर करना कांग्रेस का पहला लक्ष्य

महोबा । कांग्रेस महासचिव श्रीमती प्रियंका गांधी ने आये सभी पुरुषों और महिलाओं को बुंदेलखंड की भाषा में सब भइया बहनन खो राम किया और सब मुड़ियन को बहुत बहुत प्यार देते हुए,  हुए सभी का अभिवादन किया और कहा कि हमारे बढ़ भाग की हमको आल्हा-ऊदल ,रानी लक्ष्मी बाई, झलकारी बाई,महाराजा छत्रसाल, दीवान हरदौल जू,राष्ट्रकवि मैथलीशरण गुप्त, स्वामी ब्रह्मानंद महाराज, की महान वीरों की धरती पर आवे का मौका मिलो। श्रीमती गांधी ने कहा कि महोबा वालों यहां आकर मुझे बहुत खुशी हो रही है और थोड़ा दुख भी दो हफ्ते पहले मैं आपके बुंदेलखंड के ललितपुर गयी थी,यहां कर्ज में डूबे किसानों ने आत्महत्या कर ली और खाद लेने की लाइन में लगे किसानों की जान चली गयी, मैं उन किसानों के परिवारों से मिलने गयी,छोटे से घर में उनके परिवार के सदस्य बैठे थे, महिलाओं ने बताया कि सिंचाई का पानी नही मिल रहा था लेकिन अचानक बारिश हुई तो उन्होंने सोचा खाद डाल दे फसल अच्छी हो जाएगी तो खाद लेने गए, लाइन में लगे-लगे पानी-खाना नही मिला, घर नही आये, जान चली गयी। जो 2 किसान कर्ज में डूबे थे 2.5-3  लाख रूपये का कर्ज था खाद नही मिली वह घर आये किसी से बात नही की और कमरे में आत्महत्या कर ली तो पता चला तमाम किसान कर्ज में डूबे हैं, सरकारी खाद वितरण केंद्र बंद पड़े थे और प्राइवेट पर लाइन में लगे थे,खाद नही मिल रही है, मटर ,चना, गेंहूँ ,धान का दाम नही मिल रहा है, सिंचाई के लिए पानी नही है। भूपेश बघेल जी ने कहा कि छुट्टा जानवर की समस्या हर जगह है लेकिन सरकार की नीयत सही हो तो आवारा पशु की समस्या को समाप्त किया जा सकता है,छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री वहां गोबर भी खरीद रहे हैं जिससे वहां छुट्टा जानवरों का समस्या खत्म हो गयी,लेकिन उत्तर प्रदेश में हालात खराब है इसलिए कि सरकार की नीयत समस्या समाप्त करने की नही है।