September 30, 2022

अवधभूमि

हिंदी न्यूज़, हिंदी समाचार

प्रियंका गांधी का बड़ा दांव : वाराणसी के कबीर चौरा में चार दिनों का करेंगी प्रवास: वाराणसी और आसपास लगभग 25 लाख लोग हैं अनुयाई

वाराणसी।

सूत्रों के मुताबिक–

वाराणसी स्थित कबीर चौरा मठ पहुँची कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी, अगले 4 दिन तक कबीर चौरा मठ में प्रवास करेंगी। सूत्रों के अनुसार वह यहां पर होने वाले सत्संग और सेवा कार्यक्रमों में भी हिस्सा लेंगी।

संत कबीरदास की शिक्षाओं, संदेशों एवं स्मृतियों का केंद्र है कबीर चौरा मठ। संत कबीर दास जी ने यहीं अपना जीवन बिताया था

1934 में महात्मा गांधी जी का भी आगमन इसी मठ में हुआ था गांधीजी कबीर दास जी के विचारों से खासे प्रभावित रहे।

अगले 3 दिन कांग्रेस महासचिव श्रीमती प्रियंका गांधी का डेरा कबीर चौरा मठ ही रहेगा। कबीर चौरा मठ में संत कबीर दास जी ने अपना पूरा जीवन बिताया था। ये मठ कबीरदास जी की शिक्षाओं, संदेशों एवं स्मृतियों का केंद्र है। देशभर के कबीरपंथियों और कबीरदास जी को मानने वाले लोगों के लिए कबीर चौरा मठ एक मुख्य आकर्षण का केंद्र है। 1934 में महात्मा गांधी जी का भी इस मठ में आगमन हुआ था। यहाँ कई बार आ चुके हैं पं जवाहरलाल नेहरू। राष्ट्रकवि रविंद्रनाथ टैगोर बनाते थे इसे अपना डेरा।

कहा जा रहा है कि वाराणसी में कबीर चौरा मठ को अपना ठिकाना बनाकर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने एक बहुत बड़ा राजनीतिक संदेश दिया है। संत कबीर दास जी के सामाजिक न्याय एवं समानता के संदेश से उत्तरप्रदेश का दलित एवं अति पिछड़ा वर्ग बहुत जुड़ाव रखता है। उत्तरप्रदेश के सांतवें फ़ेज में जहां चुनाव होना (पूर्वांचल) है, उन जगहों पर अति पिछड़ी जातियों एवं दलितों की संख्या अच्छी-ख़ासी है। साथ ही संत कबीरदास जी का सांस्कृतिक महत्व भी बहुत है। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने दलित व अति पिछड़े वर्ग के अधिकारों के लिए लगातार आवाज़ उठाई है। उन्होंने अपने घोषणा पत्र में भी दलित व अति पिछड़े वर्ग के लिए काफ़ी दूरगामी परिणामों वाली घोषणाएँ की हैं। कबीर चौरा मठ का ठिकाना प्रियंका के संघर्षों और सामाजिक न्याय को मज़बूत करने के उनके प्रयासों को लेकर एक बड़ा संदेश देगा।

वाराणसी के राजनीतिक पंडितों का मानना है कि प्रियंका गांधी ने कबीर चौरा मठ के ज़रिए प्रियंका गांधी ने सांस्कृतिक जगत को भी एक बड़ा संदेश दिया है। कबीर चौरा मठ के आस-पास गलियों में भारतीय कला जगत की मशहूर हस्तियों एवं पद्म पुरस्कार विजेताओं के घर हैं। ये लोग भारत की कला जगत के स्तंभ हैं। लोग क़यास लगा रहे हैं कि प्रियंका के इस मोहल्ले में प्रवास से भारतीय कला जगत के ज़रिए पूरे वाराणसी में एक अच्छा संदेश जाएगा।

You may have missed