October 3, 2022

अवधभूमि

हिंदी न्यूज़, हिंदी समाचार

संजय भूसरेड्डी ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आदेश को दिखाया ठेंगा: लवाना में अवैध बार संचालन में दोषी आबकारी विभाग के अधिकारियों का निलंबन को नहीं दी मंजूरी

लखनऊ। शराब माफियाओं का सबसे बड़ा संरक्षक अपर मुख्य सचिव आबकारी संजय भूसरेड्डी का एक और कारनामा सामने आया है। इस बार दुस्साहस दिखाते हुए संजय भूसरेड्डी ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आदेश को डस्टबिन में डाल दिया है।

होटल लवाना में अवैध रूप से बार संचालन को लेकर कमिश्नर की जांच रिपोर्ट में तीन अधिकारियों को दोषी पाया गया था जिसको लेकर मुख्यमंत्री कार्यालय ने दोषी अधिकारियों को निलंबित करने का आदेश दिया लेकिन अपर मुख्य सचिव संजय भूसरेड्डी ने मुख्यमंत्री के आदेश को डस्टबिन में डालते हुए आरोपी अधिकारियों के निलंबन को अपनी मंजूरी नहीं दी।

नोएडा में स्पा सेंटर चलाता है जैनेंद्र उपाध्याय

बताया जा रहा है कि जिस जैनेंद्र उपाध्याय को संजय भूसरेड्डी बचाने की कोशिश कर रहे हैं वह उनका बिजनेस पार्टनर है। सूत्रों ने यह भी दावा किया है कि नोएडा में कई बार और स्पा सेंटर का जैनेंद्र उपाध्याय मालिक है और इस कारोबार में संजय भूसरेड्डी का उसे संरक्षण प्राप्त है।

लोग काफी हैरान हैं कि मुख्यमंत्री कार्यालय के आदेश के बावजूद संजय भूसरेड्डी के पास इतनी हिम्मत कहां से आई कि उसने आदेश को मानने से इनकार कर दिया। फिलहाल संजय भूसरेड्डी के इस कारनामे से जहां सरकार की किरकिरी हो रही है वहीं विभागीय मंत्री नितिन अग्रवाल भी काफी हैरान और परेशान है।

दोषियों को बचाने के एवज में हो रही है डील

सूत्रों की बात पर यकीन करें तो अपने सबसे कमाऊ अधिकारी को बचाने के लिए विभाग के शीर्ष अधिकारी एड़ी चोटी का जोर लगाए हुए हैं। बताने की जरूरत नहीं कि इसके एवज में मोटा चढ़ावा दिया गया है।