22 May 2022, 5:34 AM (GMT)

Global Stats

527,269,092 Total Cases
6,299,913 Deaths
497,219,456 Recovered

May 22, 2022

अवधभूमि

हिंदी न्यूज़, हिंदी समाचार

सरकारी एयरलाइन बिकने का खामियाजा भुगत रहे हैं यूक्रेन में फंसे छात्र: बिना किराया

नई दिल्ली। यूक्रेन में फंसे हजारों छात्रों में फेसबुक टि्वटर और यूट्यूब इंस्टाग्राम पर वीडियो पोस्ट कर भारत सरकार से अपनी जान बचाने की गुहार लगाई लेकिन अभी तक सरकार की ओर से उन्हें वापस लाने के लिए कोई योजना नहीं बन पाई।

खाड़ी युद्ध के दौरान लाखों लोगों की जान बचाया था इंडियन एयरलाइंस ने

1991 में जब अमेरिका ने इराक पर हवाई हमले शुरू किए तो वहां इराक और कुवैत में फंसे लाखों भारतीयों को इंडियन एयरलाइंस की मदद से भारत लाया गया था बहुत से ऐसे लोग थे जो किसी दशा में एयरलाइन का किराया चुकाने की स्थिति में नहीं थे । एक अनुमान के मुताबिक खाड़ी देशों से लगभग 500000 लोगों को रेस्क्यू करने में इंडियन एयरलाइंस में मदद की थी

छात्रों का आरोप हमारी मदद नहीं कर रही सरकार

यूक्रेन में फंसे बहुत से छात्रों का कहना है कि हमारे माता पिता के पास महंगा किराया चुकाने के पैसे नहीं है और सरकार हमारी मदद नहीं कर रही है। लावारिस छोड़ दिया गया है जबकि दुनिया के दूसरे देशों के लोग अपने छात्रों को निशुल्क यहां से जस्ट यू करके ले जा रहे हैं।

टाटा एयरलाइंस ने साधी चुप्पी

फिलहाल टाटा एयरलाइंस फंसे हुए छात्रों को कम पैसे में या निशुल्क वहां से लाने में मदद करेगा या नहीं इस पर अभी उसकी ओर से कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है।

You may have missed