September 30, 2022

अवधभूमि

हिंदी न्यूज़, हिंदी समाचार

संन्यास के बाद सरकार की शपथ लेने वाला व्यक्ति भोगी होता है योगी नहीं: स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद

प्रयागराज। माघ मेले में प्रवास पर आये संत अविमुक्तेश्वरानंद ने योगी आदित्यनाथ पर निशाना साधते हुए कहा कि सन्यास की शपथ लेने के बाद यदि कोई सरकार की शपथ लेता है तो वह भोगी तो हो सकता है लेकिन योगी या संत कदापि नहीं हो सकता। उन्होंने कहा कि सरकार चलाने के लिए कई तरह के छल प्रपंच और झूठ का सहारा लेना पड़ता है ऐसा कार्य कोई सन्यासी या संत कैसे कर सकता है। अविमुक्तेश्वरानंद ने कहा कि मुख्यमंत्री पद की शपथ लेते समय धर्मनिरपेक्षता की शपथ लेनी पड़ती है अर्थात संबंधित व्यक्ति किसी धर्म के प्रति कोई आस्था नहीं रख सकता इस तरह भी योगी संत की अपनी श्रेणी खो देते हैं।

अविमुक्तेश्वरानंद ने इसके पूर्व काशी कॉरिडोर बनाने के दौरान मां अन्नपूर्णा का मंदिर तोड़े जाने पंच विनायक को भंग किए जाने और काशी की पंच महा कोसी परिक्रमा को सीमित कर काशी कॉरिडोर तक रखने के सरकार के फैसले की कड़ी आलोचना की थी।

You may have missed