27 May 2022, 1:09 AM (GMT)

Global Stats

530,474,180 Total Cases
6,308,158 Deaths
501,069,994 Recovered

May 27, 2022

अवधभूमि

हिंदी न्यूज़, हिंदी समाचार

तहसील कर्मी की मौत के मामले में मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य भी संदेह के दायरे में

प्रतापगढ़। उप जिलाधिकारी लालगंज ज्ञानेंद्र विक्रम सिंह द्वारा नाजिर सुनील शर्मा की बेरहमी से पिटाई के बाद जिला मुख्यालय स्थित सरदार पटेल मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया जहां पर संदिग्ध परिस्थितियों में इलाज के दौरान मौत हो गई।

मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल डीडी आर्य ने अवध भूमि न्यूज़ से बात करते हुए दावा किया कि मृतक सुनील शर्मा के भोजन में कुछ पदार्थ मिले हैं। जब उनसे पूछा गया कि भोजन में यह पदार्थ कहां से आए यह भोजन मृतक के घर से आया या फिर अस्पताल प्रशासन द्वारा उपलब्ध कराया गया तो इस पर वह कोई स्पष्ट जवाब नहीं दे पाए।

सवालों के घेरे में क्यों हैं डीडी आर्य

कहा जा रहा है कि नाजिर सुनील शर्मा की मौत के बाद घंटे भर प्रिंसिपल ने शव को बंधक बनाए रखा। शव को ओटी में छुपा कर रखा गया। लेकिन जब नाजिर की मौत की सूचना परिजनों और तहसील कर्मियों को मिली और उन्होंने हंगामा करना शुरू किया तो पिछले दरवाजे से मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल भाग खड़े हुए।

कहीं नाजिर को जहर देकर तो नहीं मारा गया

प्रिंसिपल की बात पर यदि गौर करें तो उनके मुताबिक नाजिर सुनील शर्मा के भोजन में कुछ मटेरियल मिला है वह मटेरियल क्या है इसके बारे में वह कुछ भी साफ नहीं बता पाए। प्रिंसिपल के अनुसार भोजन करने के बाद ही नाजिर की हालत बिगड़ी और मौत हो गई। सवाल यह उठता है कि आखिर मृतक नाजिर के भोजन में ऐसा क्या मिलाया गया जिससे उनकी जान चली गई। भोजन लेकर कौन आया और क्या हुआ यह सब तो सीसीटीवी खंगालने के बाद ही सच्चाई पता चलेगी। लेकिन प्राचार्य की बातों ने नाजिर की मौत का रहस्य जरूर गहरा दिया है।

You may have missed