September 30, 2022

अवधभूमि

हिंदी न्यूज़, हिंदी समाचार

जिन्होंने लिया है फ्री राशन अब उनसे होगी वसूली: जांच के लिए तहसीलों में भेजा जा रहा है पत्र

नई दिल्ली। कोरोना काल में जिन लोगों को फ्री राशन दिया गया था उन्हें अब यह साबित करना पड़ेगा कि वह इसके पात्र थे। अगर पात्रता साबित करने में विफल रहे तो उनसे दिए गए राशन के बाजार मूल्य की दर से रिकवरी होगी।

अब इसी को लेकर क्षेत्र की ओर से अधिकारियों की ओर से चेतावनी दी जा रही है कि ऐसे लोग अपना राशन कार्ड तुरंत सरेंडर कर दें। नहीं तो जांच के बाद इनपर वैधानिक कार्रवाई की जाएगी। डीएसओ की ओर से जानकारी दी गई है कि जिनके पास 100 वर्ग मीटर से अधिक का प्लाट, फ्लैट या मकान, चार पहिया गाड़ी, ट्रैक्टर या एससी, गांवों में दो लाख व शहर में तीन लाख सालाना से अधिक की परिवारिक आय है तो उन्‍हें अपना राशन कार्ड तहसील व डीएसओ कार्यालय में सरेंडर करना होगा।

होगी वसूली
अधिकारियों की ओर से दी गई जानकारी के अनुसार, अगर सरेंडर नहीं किया जाता है तो ऐसे लोगों का राशन कार्ड जांच के बाद निरस्‍त कर दिया जाएगा। साथ ही परिवार पर वैधानिक कार्रवाई होगी। वहीं जब से वह राशन ले रहा है, तब से उससे राशन की वसूली भी होगी।

राशन के लिए यह होंगे अपात्र:
जिन परिवारों के पास मोटरकार, ट्रैक्टर, एसी, हार्वेस्टर, पांच केवी या अधिक क्षमता का जनरेटर,100 वर्ग मीटर का प्लाट या मकान, पांच एकड़ से अधिक जमीन, एक से अधिक शस्त्र लाइसेंस, आयकरदाता, ग्रामीण क्षेत्र में परिवार की आय दो लाख प्रतिवर्ष व नगरीय क्षेत्र में तीन लाख रुपए प्रतिवर्ष वाले परिवार योजना के लिए अपात्र हैं।

You may have missed