08 Aug 2022, 10:00 AM (GMT)

Global Stats

589,758,534 Total Cases
6,437,593 Deaths
561,427,715 Recovered

August 9, 2022

अवधभूमि

हिंदी न्यूज़, हिंदी समाचार

आबकारी महकमे में पैसे और पावर का खेल : स्थानांतरण नीति पूरी तरह फेल : ट्रांसफर रोकने के लिए हुई करोड़ों की वसूली: जहरीली शराब पीने से 1500 से ज्यादा लोगों की मौत के जिम्मेदार दिव्य प्रकाश गिरी संजय भूसरेड्डी की मदद से अपनी कुर्सी बचाने में सफल रहे

लखनऊ। जैसा की आशंका थी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के बेहद करीबी रहे अपर मुख्य सचिव संजय भूसरेड्डी ने स्थानांतरण नीति की धज्जियां उड़ाते हुए जिसको चाहा राहत पहुंचाई और जिसे चाहा हटा दिया। यह अलग बात है कि मनचाही पोस्टिंग और पदोन्नति के लिए करोड़ों रुपए की वसूली हुई है।

अपर आयुक्त प्रशासन दिव्य प्रकाश गिरी का स्थानांतरण रुकना महक में में चर्चा का विषय बना हुआ है। सपा कार्यकाल में डेढ़ वर्ष तक इसी पद पर बने रहे और योगी सरकार में भी 3 वर्ष से अधिक समय से इसी पद पर हैं इनके कार्यकाल में जहरीली शराब से उत्तर प्रदेश में लगभग 15 00 से ज्यादा लोगों की मौत हुई फिर भी अपर मुख्य सचिव संजय भूसरेड्डी इन पर मेहरबान बने हुए हैं।

शराब माफियाओं के चहेते हैं दिव्य प्रकाश गिरी

माना जा रहा है कि दिव्य प्रकाश गिरी की वजह से ही कई शराब माफियाओं को नकली शराब और अवैध शराब का धंधा चल रहा है। शराब माफियाओं ने ही अपर मुख्य सचिव से अपनी नजदीकी का फायदा उठाकर दिव्य प्रकाश गिरी का स्थानांतरण रुकवाने में सफलता प्राप्त की है।

नियम विरुद्ध रुके कई लोगों के ट्रांसफर, जमकर की गई वसूली

कहां जा रहा है कि आबकारी महकमे में वर्षों से जमे कई अधिकारियों का ट्रांसफर अपर मुख्य सचिव संजय भूसरेड्डी ने पद का दुरुपयोग करते हुए और ट्रांसफर पॉलिसी की धज्जियां उड़ाते हुए रोक दिया यह भी कहा जा रहा है कि इसके बदले अधिकारियों से मोटी रकम वसूली गई।

स्थानांतरित अधिकारियों की सूची इस प्रकार है