October 3, 2022

अवधभूमि

हिंदी न्यूज़, हिंदी समाचार

योगी की पसंद दरकिनार: केंद्रीय हाईकमान की पसंद बृजेश पाठक या केशव मौर्य हो सकते हैं उत्तर प्रदेश भाजपा के नए अध्यक्ष

लखनऊ। इस बार उत्तर प्रदेश भारतीय जनता पार्टी का अध्यक्ष मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की पसंद नहीं होगा। योगी आदित्यनाथ पूर्व उपमुख्यमंत्री दिनेश चंद शर्मा को भाजपा के नए प्रदेश अध्यक्ष के रूप में देखना चाहते थे लेकिन ऐसा लग रहा है कि इस बार उनकी पसंद का प्रदेश अध्यक्ष नहीं होगा। भाजपा का प्रदेश अध्यक्ष वही होगा जो केंद्रीय नेतृत्व और हाईकमान की गुड लिस्ट में होगा।

कहां जा रहा है कि राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने उपमुख्यमंत्री बृजेश पाठक और दूसरे उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य से अलग-अलग मुलाकात की है। इस मुलाकात के बाद कयास लगाए जा रहे हैं कि बृजेश पाठक किया केशव प्रसाद मौर्य में से कोई एक उत्तर प्रदेश भारतीय जनता पार्टी का नया अध्यक्ष हो सकता है। यह दोनों केंद्रीय नेतृत्व की खास पसंद है जबकि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ इनके अदावत जगजाहिर है।

केंद्रीय नेतृत्व नहीं चाहता कि प्रदेश संगठन में योगी आदित्यनाथ का बोलबाला हो

मिशन 2024 की तैयारियों में जुटी भाजपा का केंद्रीय हाईकमान यह कतई नहीं चाहता कि प्रदेश संगठन में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का दबदबा हो। माना जा रहा है कि संगठन के जरिए केंद्रीय हाईकमान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को दबाव में रखना चाहता है।

संसदीय बोर्ड और चयन समिति में भी योगी को नहीं मिली जगह

योगी आदित्यनाथ के पर कतरने की तैयारी काफी लंबे समय से चल रही थी। संसदीय बोर्ड और केंद्रीय चुनाव समिति के पुनर्गठन के समय लोगों को भरोसा था कि देश के सबसे बड़े सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को इन दोनों समितियों में जगह दी जाएगी लेकिन ऐसा नहीं हुआ।

अभी कहां जा रहा है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ केंद्रीय हाईकमान की पसंद नहीं बल्कि मजबूरी है। हाईकमान या कतई नहीं चाहता है कि योगी आदित्यनाथ इतने मजबूत हो जाए कि कल केंद्रीय नेतृत्व को चुनौती देने की स्थिति में आ जाएं।

फिलहाल लखनऊ और दिल्ली में सह और मात का खेल जारी है