November 26, 2022

अवधभूमि

हिंदी न्यूज़, हिंदी समाचार

वर्दी पर दाग: पुलिस ने अगवा कर वसूला ₹70000 की फिरौती:

नई दिल्ली। पुलिस के तीन सिपाहियों पर अगवा कर रंगदारी वसूलने का मामला दर्ज हुआ है। आरोप है कि सेल टैक्स एजेंट को फर्जी मुकदमे में फंसाने की धमकी देकर डेढ़ लाख रुपये ऐंठने के बाद छोड़ा। ये वाकया 11 अक्टूबर की रात का है। जीटीबी एनक्लेव थाने में शनिवार शाम को अगवा करने और झूठे केस में फंसाकर वसूली करने के तहत केस दर्ज कर लिया गया। सीमापुरी थाने के सिपाही संदीप, सिपाही रोबिन, गाड़ी चला रहे शहीद नगर के वाहिद को हिरासत में ले लिया गया। छठी बटालियन में तैनात सिपाही अमित और सीमापुरी थाने के बीसी गौरव उर्फ अन्ना की तलाश चल रही है। स्पेशल स्टाफ के एसआई विनीत प्रताप की भूमिका की जांच की जा रही है।

पुलिस सूत्रों ने बताया कि पीड़ित जीटीबी एनक्लेव थाना इलाके ताहिरपुर में रहते हैं। वो सेल्स टैक्स एजेंट हैं। छठी बटालियन में तैनात सिपाही अमित वसूली करता था। इसी ने सीमापुरी थाने के सिपाही संदीप को इसकी टिप दी। सीमापुरी डिपो बीट पर तैनात संदीप भी वसूली करने लगा, जिसने अपने साथ बीट पर तैनात सिपाही रोबिन को भी मिला लिया। पीड़ित का दावा है कि 11 अक्टूबर की रात को वो घर लौट रहा था। शाहदरा फ्लाईओवर से नीचे उतरते समय तोनी (सिपाही संदीप, रोबिन और वाहिद) अपनी कार आगे अड़ा दी। इसके बाद कार से उतारा और 35 हजार रुपये जेब से निकाल लिए।

पीड़ित ने शिकायत जीटीबी एनक्लेव थाने में दी। आला अफसरों की जानकारी दी गई। डीसीपी (शाहदरा) आर. सत्यसुंदरम ने शुक्रवार को पीड़ित को अपने ऑफिस बुलाकर पूछताछ की। शुरुआती तफ्तीश में पुलिसवालों की संलिप्तता पाने के बाद शनिवार को खुद डीसीपी ने दोनों पुलिसकर्मियों और स्पेशल स्टाफ के एसआई से जीटीबी एनक्लेव थाने में पूछताछ की। दोनों सिपाहियों के फोन जब्त कर लिए गए। करीब चार घंटे की जद्दोजहद के बाद देर शाम केस दर्ज कर दोनों को हिरासत में ले लिया गया, जबकि एसआई के खिलाफ फिलहाल पुख्ता सबूत नहीं मिले हैं और जांच की जा रही है।